Sahil
@sahilypatel 10 months, 1 week ago 2741 views

Want to do an MBA for free ?

A thread 👇

1) Leadership: Foundations of Teamwork and Leadership

School: wharton

https://t.co/2kX41ggbRY
2) Marketing: Marketing Management

School: wharton

https://t.co/CBNWxqoPnA
3) Microeconomics: Microeconomics for Managers

School: MIT

https://t.co/iNKwlrFpvJ
4) Financial Theory

School: Yale

https://t.co/Wk0uw77Uzj
5) Financial Markets

School: Yale

https://t.co/ZeVhBxViOG
6) Private Equity: Perspectives and Limited and General Partners

School: wharton

https://t.co/LMDQENPlRl
7) Private Equity: The Consolidation Play and Due Diligence

School: wharton

https://t.co/2mR3oE7HWb
8) Principles of Microeconomics School: wharton

School: MIT

https://t.co/T8W1fynoNf
9) Game Theory

School: Yale

https://t.co/AdOsD2oDlh
10) How to Launch a Successful Startup Company

School: MIT

https://t.co/h8NwiF733m

Free course to learn how to start a startup 👇
https://t.co/zVAwcbRVgg
11) Blockchain and Money

School: MIT

https://t.co/joQz07QkEl
12) How to Speak

School: MIT

https://t.co/g2Gl5gQpKg
13) Scale School

School: wharton

https://t.co/Svl2K1VTTm
14) Growth through acquisition

School: wharton

https://t.co/jjONe12hYm
If you like this thread, please Rt my first tweet
https://t.co/NIM92LfzDy
If I missed anything, please share some relevant links 👇🙏

More from All

कुंडली में 12 भाव होते हैं। कैसे ज्योतिष द्वारा रोग के आंकलन करते समय कुंडली के विभिन्न भावों से गणना करते हैं आज इस पर चर्चा करेंगे।
कुण्डली को कालपुरुष की संज्ञा देकर इसमें शरीर के अंगों को स्थापित कर उनसे रोग, रोगेश, रोग को बढ़ाने घटाने वाले ग्रह


रोग की स्थिति में उत्प्रेरक का कार्य करने वाले ग्रह, आयुर्वेदिक/ऐलोपैथी/होमियोपैथी में से कौन कारगर होगा इसका आँकलन, रक्त विकार, रक्त और आपरेशन की स्थिति, कौन सा आंतरिक या बाहरी अंग प्रभावित होगा इत्यादि गणना करने में कुंडली का प्रयोग किया जाता है।


मेडिकल ज्योतिष में आज के समय में Dr. K. S. Charak का नाम निर्विवाद रूप से प्रथम स्थान रखता है। उनकी लिखी कई पुस्तकें आज इस क्षेत्र में नए ज्योतिषों का मार्गदर्शन कर रही हैं।
प्रथम भाव -
इस भाव से हम व्यक्ति की रोगप्रतिरोधक क्षमता, सिर, मष्तिस्क का विचार करते हैं।


द्वितीय भाव-
दाहिना नेत्र, मुख, वाणी, नाक, गर्दन व गले के ऊपरी भाग का विचार होता है।
तृतीय भाव-
अस्थि, गला,कान, हाथ, कंधे व छाती के आंतरिक अंगों का शुरुआती भाग इत्यादि।

चतुर्थ भाव- छाती व इसके आंतरिक अंग, जातक की मानसिक स्थिति/प्रकृति, स्तन आदि की गणना की जाती है


पंचम भाव-
जातक की बुद्धि व उसकी तीव्रता,पीठ, पसलियां,पेट, हृदय की स्थिति आंकलन में प्रयोग होता है।

षष्ठ भाव-
रोग भाव कहा जाता है। कुंडली मे इसके तत्कालिक भाव स्वामी, कालपुरुष कुंडली के स्वामी, दृष्टि संबंध, रोगेश की स्थिति, रोगेश के नक्षत्र औऱ रोगेश व भाव की डिग्री इत्यादि।
Hi, I'm Keith, today is May 10, 2022, I am live-tweeting Cleveland City Council's Development, Planning and Sustainability Committee Meeting at 9:30AM on behalf of @cledocumenters #CLEdocumenters & @NeighborUpCle.

livestreams online:


A YouTube stream will be accessible via @CleCityCouncil page:

https://t.co/p7gEQVT1qo

Note: a direct link to the video will be provided later.

Learn about @CleCityCouncil's Development, Planning and Sustainability ("DPS") Committee Meeting.

https://t.co/b5zCCBVErj


Who is who on DPS?

The Committee is chaired by W10 Council Member ("W# CM") Anthony Hairston.

The Vice Chair is W14, Jasmin Santana.

Committee Members include

W1, Joseph T. Jones
W3, Kerry McCormack
W7, Stephanie Howse
W13, Krish Harsh
W15, Jenny Spencer

You May Also Like